स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना : Swarna Jayanti Gram Swarozgar (SGSY)

आज भी हमारे देश में बहुत से ऐसे नागरिक हैं जो गरीबी रेखा के नीचे अपना जीवन यापन कर रहे हैं। सरकार इन सभी नागरिकों की आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए निरंतर प्रयास करती है। जिसके लिए तरह-तरह की योजनाएं शुरू की जाती हैं। इनमें से एक योजना भारत सरकार द्वारा संचालित है। जिसका नाम Swarna Jayanti Gram Swarozgar Yojana है।

स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना क्या है। – Swarna Jayanti Gram Swarozgar Yojana (SGSY 2022)

आज के इस आर्टिकल में हम आपको स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं जैसे कि स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना क्या है?स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना के लिए कौन आवेदन कर सकता है, इस योजना के लिए पात्रता व आवश्यक दस्तावेज क्या-क्या है |

इस योजना के तहत स्वरोजगार के लिए ऋण प्रदान किया जाएगा और ऋण में अनुदान राशि प्रदान की जाएगी। जिसमें से 75% तक भारत सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा और 25% तक खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में परिवारों को अपने दम पर काम करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा ताकि उनकी आय में वृद्धि हो सके।

sarkarijob.net

स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना का इतिहास (History Of – SGSY)

इस कार्यक्रम का उद्देश्य सहायता प्राप्त गरीब परिवारों को बैंक ऋण और सरकारी सब्सिडी के संयोजन के माध्यम से स्वयं सहायता समूहों में संगठित करके गरीबी रेखा से ऊपर लाना है। इन स्वयं सहायता समूहों का मुख्य उद्देश्य इन गरीब परिवारों को गरीबी रेखा से ऊपर लाना और संयुक्त प्रयास के माध्यम से आय पर ध्यान केंद्रित करना था।

स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना 2022 के क्या क्या लाभ हैं

स्वर्णजयंती ग्राम स्वरोजगार योजना 2022 के लाभ – सभी लोग Swarna Jayanti Gram Swarozgar Yojana 2022 के लाभ एसजीएसवाई योजना पीडीएफ में देख सकते हैं। Sarkariyojnaa आपको योजना के घटकों और आपके लाभों के बारे में बुनियादी जानकारी देता है

स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना 2022 के लाभ और विशेषताएं

  • ग्रामीण गरीब एकजुट होंगे ताकि वे स्वयं को (SGSY 2022) के माध्यम से स्वयं सहायता समूहों में संगठित कर सकें
  • इस योजना के माध्यम से लाभार्थियों को ऋण और ऋण पर सब्सिडी दी जाएगी।
  • इस योजना के तहत लाभार्थियों का कौशल विकास भी किया जाएगा।
  • स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना का नेतृत्व भारत सरकार करती है।
  • इस योजना के माध्यम से सहायता प्राप्त ग्रामीण परिवारों को बैंक ऋण और सरकारी अनुदान के माध्यम से संपत्ति प्रदान करके गरीबी रेखा से ऊपर उठाने का प्रयास किया जाएगा।
  • इसका मुख्य उद्देश्य अनुदान प्राप्तकर्ताओं को प्रत्येक क्षेत्र के कौशल और कार्य क्षमता के आधार पर ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी संख्या में छोटे व्यवसाय स्थापित करने में सक्षम बनाना है।
  • इस योजना के तहत स्वरोजगार के लिए ऋण दिया जाएगा और ऋण पर सब्सिडी की राशि दी जाएगी।
  • जिसमें से 75% तक भारत सरकार द्वारा ही प्रदान किया जाएगा तथा र 25% खर्च वह की राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में परिवारों को अपने दम पर काम करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा ताकि उनकी आय में वृद्धि हो सके।

स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना में कितने समूह सदस्य शामिल हो सकते है 

  • इस योजना के तहत एक सहायता समूह में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों के 10 से 20 लोग हो सकते हैं।
  • आपको बता दे की इस योजना में एक व्यक्ति को एक से अधिक समूह का सदस्य नहीं होना चाहिए।
  • विकलांग क्षेत्रों, लघु सिंचाई प्रणालियों और दुर्गम क्षेत्रों जैसे पहाड़ियों, रेगिस्तानों और बिखरी हुई आबादी में, एक समूह में लोगों की संख्या 5 से 20 तक हो सकती है।
  • गरीबी रेखा से ऊपर के सदस्य 20% तक और विशेष मामलों में यदि आवश्यक हो तो 30% तक समूह में शामिल हो सकते हैं।
  • सभी स्वयं सहायता समूहों में महिलाओं को भी शामिल करने का प्रयास किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत प्रत्येक खंड में महिलाओं के लिए अलग से 50 प्रतिशत सहायता समूह बनाए जाएंगे।

स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना 2022 के लिए आवेदन कैसे 

  • स्वर्णजयंती ग्राम स्वरोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 2022: सभी उम्मीदवार ऑनलाइन आवेदन नीचे दिए गए लिंक के माध्यम से डाउनलोड कर सकते हैं:
  • एसजीएसवाई ऑनलाइन आवेदन डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें >> यहां क्लिक करें  

FAQ (SGSY) प्रधानमंत्री स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार 2022

Leave a Comment