Ayushman Bharat Digital Mission: आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के बारे में जानें 

हेल्थ कार्ड बनवाने लेकर, स्वास्थ्य खाता का लाभ उठाने तक, आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के बारे में जानें सब कुछ

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन का उद्देश्य स्वास्थ्य से संबंधित सभी हितधारकों – रोगियों, स्वास्थ्य कर्मियों, पैरामेडिक्स, अस्पतालों, क्लीनिकों, प्रयोगशालाओं, फार्मेसियों को एक मंच पर लाना है.

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन अब देशभर के अस्पतालों के डिजिटल स्वास्थ्य समाधानों को एक-दूसरे से जोड़ेगा. इसके तहत देशवासियों को अब डिजिटल हेल्थ आईडी मिलेगी. हर नागरिक के स्वास्थ्य रिकॉर्ड को डिजिटल रूप से संरक्षित किया जाएगा”, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 सितंबर, 2021 को आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की शुरुआत करते हुए कहा. डिजिटल मिशन का उद्देश्य स्वास्थ्य से संबंधित सभी हितधारकों – रोगियों, स्वास्थ्य कर्मियों, पैरामेडिक्स, अस्पतालों, क्लीनिकों, प्रयोगशालाओं, फार्मेसियों – को एक मंच पर लाना है. पीएम मोदी ने कहा कि अभियान का उद्देश्य देश में स्वास्थ्य सेवाओं को आसान और सुलभ बनाना है.

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन में आयुष्मान भारत हेल्थ अकाउंट (ABHA) शामिल है, जिसे पहले हेल्थ आईडी, हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स रजिस्ट्री (HPR) और हेल्थ फैसिलिटी रजिस्ट्री (HFR) के नाम से जाना जाता था. आइए जानें इसके बारे में सबकुछ – 

स्वास्थ्य आईडी क्या है? (What Is A Health ID?)

आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाता (ABHA) का उद्देश्य भारत का डिजिटल स्वास्थ्य पारिस्थितिकी तंत्र बनाना है. आभा (ABHA) आपको अपने और अपने परिवार के लिए डिजिटल स्वास्थ्य रिकॉर्ड बनाने और उन्हें डिजिटल रूप से एक्सेस करने और साझा करने की अनुमति देता है. आभा (ABHA) एक बेतरतीब ढंग से उत्पन्न 14 अंकों की संख्या है, जिसका उपयोग विशिष्ट रूप से व्यक्तियों की पहचान करने, उन्हें प्रमाणित करने और उनके स्वास्थ्य रिकॉर्ड (केवल उनकी सहमति के साथ) को मल्‍टिपल सिस्‍टम्‍स और हितधारकों तक फैलाने के लिए किया जाता है.

आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाता का उद्देश्य भारत का डिजिटल स्वास्थ्य पारिस्थितिकी तंत्र बनाना है.

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन अब देशभर के अस्पतालों के डिजिटल स्वास्थ्य समाधानों को एक-दूसरे से जोड़ेगा. इसके तहत देशवासियों को अब डिजिटल हेल्थ आईडी मिलेगी. हर नागरिक के स्वास्थ्य रिकॉर्ड को डिजिटल रूप से संरक्षित किया जाएगा”, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 सितंबर, 2021 को आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की शुरुआत करते हुए कहा. डिजिटल मिशन का उद्देश्य स्वास्थ्य से संबंधित सभी हितधारकों – रोगियों, स्वास्थ्य कर्मियों, पैरामेडिक्स, अस्पतालों, क्लीनिकों, प्रयोगशालाओं, फार्मेसियों – को एक मंच पर लाना है. पीएम मोदी ने कहा कि अभियान का उद्देश्य देश में स्वास्थ्य सेवाओं को आसान और सुलभ बनाना है.

स्वास्थ्य आईडी क्या है? (What Is A Health ID?)

आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाता (ABHA) का उद्देश्य भारत का डिजिटल स्वास्थ्य पारिस्थितिकी तंत्र बनाना है. आभा (ABHA) आपको अपने और अपने परिवार के लिए डिजिटल स्वास्थ्य रिकॉर्ड बनाने और उन्हें डिजिटल रूप से एक्सेस करने और साझा करने की अनुमति देता है. आभा (ABHA) एक बेतरतीब ढंग से उत्पन्न 14 अंकों की संख्या है, जिसका उपयोग विशिष्ट रूप से व्यक्तियों की पहचान करने, उन्हें प्रमाणित करने और उनके स्वास्थ्य रिकॉर्ड (केवल उनकी सहमति के साथ) को मल्‍टिपल सिस्‍टम्‍स और हितधारकों तक फैलाने के लिए किया जाता है.

आभा कैसे बनाएं? (How To Create ABHA?) 

आप आभा (ABHA) वेब पोर्टल पर स्व-पंजीकरण द्वारा या गूगल प्‍लेस्‍टोर से आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन स्वास्थ्य रिकॉर्ड एप्लिकेशन डाउनलोड कर सकते हैं. आप एक सहभागी स्वास्थ्य सुविधा (participating health facility) में अपने अर ABHA के निर्माण के लिए भी अनुरोध कर सकते हैं, जिसमें सार्वजनिक या निजी अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और पूरे भारत में स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र शामिल हो सकते हैं.

आप आधार या मोबाइल नंबर या ड्राइविंग लाइसेंस के जरिए इसे क्रिएट कर सकते हैं. अगर आप आभा पोर्टल पर इसे बनाने के लिए अपने आधार नंबर का इस्‍तेमाल करते हैं, तो आपके आधार से जुड़े मोबाइल नंबर पर वन-टाइम पासवर्ड (OTP) भेजा जाएगा. मोबाइल नंबर या आधार के माध्यम से पंजीकरण में 10 मिनट से भी कम समय लगता है. 

याद रखें, ड्राइविंग लाइसेंस के मामले में, अपनी डीटेल्‍स देने के बाद आपको एक नामांकन संख्या मिलेगी, जिसे आपको पास की पार्टीसिपेट‍िंग फैस‍ि‍लिटी में ले जाना होगा और इसके बाद आपको आभा मिलेगा.

मोबाइल नंबर के माध्यम से अपना आभा बनाएं (Create Your ABHA Through Mobile Number) 

1. अपना मोबाइल नंबर दर्ज करें और आगे बढ़ने के लिए एक ओटीपी का उपयोग करके इसे सत्यापित करें. 
2. नाम, जन्म तिथि और लिंग सहित अपना विवरण भरें.
3. अपना PHR (व्यक्तिगत स्वास्थ्य रिकॉर्ड) पता बनाएं, एक स्व-घोषित उपयोगकर्ता नाम, जो स्वास्थ्य सूचना विनिमय और सहमति प्रबंधक (HIE-CM) में साइन इन करने के लिए जरूरी है. वर्तमान में, सभी आभा यूजर्स आभा साइन-अप के दौरान अपना स्वयं का PHR पता उत्पन्न कर सकते हैं.
4. एक पासवर्ड बनाएं और अपना राज्य और जिला जोड़ें.
5. ‘सबमिट’ बटन पर क्लिक करने पर आपका आभा बन जाएगा और आपको अपने मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस के जरिए सूचित किया जाएगा. आप अपना आभा कार्ड वेबसाइट से भी डाउनलोड कर सकते हैं.

आभा (स्वास्थ्य आईडी) का उद्देश्य क्या है? (What Is The Purpose Of ABHA (Health ID)

एक चित्र, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक कारखाने में काम करते हुए, प्रतीक, जो बिहार के एक सुदूर गांव का रहने वाला है, एक दुर्घटना का शिकार हो जाता है. उसे पास के एक अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टर ने उसका मेडिकल रिकॉर्ड मांगा. जाहिर है, उसके सारे दस्तावेज उसके गांव में हैं. ऐसे परिदृश्य में, एक रोगी को सभी जरूरी परीक्षण फिर से करने के लिए कहा जाता है, जो स्पष्ट रूप से चिकित्सा लागत में वृद्धि करता है और समय लेने वाला होता है, नतीजतन उपचार में देरी होती है.

यहां आभा या हेल्थ आईडी की भूमिका आती है, जिसमें हर परीक्षण, हर बीमारी, डॉक्टरों का दौरा, ली गई दवाएं और निदान का विवरण होगा. चूंकि सूचना डिजिटल रूप से संग्रहीत है, इसलिए इसे कभी भी, कहीं भी उपलब्ध कराया जा सकता है.

स्वास्थ्य सुविधा रजिस्ट्री क्या है? (What Is Health Facility Registry?) 

स्वास्थ्य सुविधा रजिस्ट्री (HFR) देश की विभिन्न चिकित्सा प्रणालियों में स्वास्थ्य सुविधाओं का एक व्यापक भंडार है. इसमें अस्पतालों, क्लीनिकों, नैदानिक प्रयोगशालाओं और इमेजिंग केंद्रों, फार्मेसियों सहित सार्वजनिक और निजी दोनों स्वास्थ्य सुविधाएं शामिल हैं.

5 अप्रैल, 2022 तक, 21.18 करोड़ आभा (ABHA) नंबर बनाए गए हैं, 24,390 हेल्थ फैसेलिटीज और 11,645 डॉक्टरों ने अपना पंजीकरण कराया है.

Share

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *