paddy crop:फसल ऋण लेने के लिए बनवाएं क्रेडिट कार्ड, कम ब्याज पर मिलेगा लोन

जानें, क्रेडिट कार्ड बनवाने की प्रक्रिया और इसके लाभ

खरीफ फसल में खाद, बीज, कृषि यंत्र सहित कई प्रकार की जरूरतों के लिए किसान को रुपयों की आवश्यकता होती है। ऐसे में उसे स्थानीय साहूकार से ऋण लेना पड़ता है, जो बहुत महंगा पड़ता है। किसानों की इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए सरकार की ओर से किसानों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड योजना चलाई गई है। इस योजना के जरिये किसानों को सरकार की ओर से बैंकों के माध्यम से सस्ता ऋण उपलब्ध कराया जाता है। इस योजना की खास बात ये हैं कि समय पर ऋण अदायगी करने पर किसान को आगे ब्याज दर में छूट का लाभ भी प्रदान किया जाता है। यदि आपने अभी तक क्रेडिट कार्ड नहीं बनवाया है तो जल्द ही बनवाकर सस्ती दर पर ऋण योजना का लाभ उठाएं और अपनी कृषि की जरूरतों को पूरा करें। 

किसान क्रेडिट कार्ड से किसानों को होने वाले लाभ

  • किसान क्रेडिट कार्ड से किसानों को सस्ती दर पर ऋण उपलब्ध हो सकेगा। 
  • किसान क्रेडिट कार्ड से 3 लाख रुपए तक ऋण सुविधा का लाभ प्राप्त कर सकते है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड के तहत दिए जाने वाले ऋण में किसानों को छूट प्रदान की जाती है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड के तहत लिए गए ऋण पर किसानों को सालाना 4 प्रतिशत की दर से ब्याज देना होता है, जो सबसे कम है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड के तहत लिए गए ऋण की राशि का भुगतान यदि किसान द्वारा तय समय अवधि से पहले पूरा कर दिया जाता है तो किसानों को सरकार की ओर से लिए गए ऋण राशि में 3 प्रतिशत तक सब्सिडी प्रदान की जाती है।
  • इसके साथ ही किसानों को 7 प्रतिशत ब्याज दर की राशि से केवल 4 प्रतिशत के रूप में ब्याज का भुगतान करनी होती है।

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए क्या होनी चाहिए पात्रता

  • किसान भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए। 
  • आवेदन करने के लिए किसान की आयु 18 वर्ष से लेकर 75 वर्ष होनी चाहिए।
  • किसान की भूमि से संबंधित खतौनी किसी संस्था या बंधक के पास जमा नहीं होनी चाहिए।
  • किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए किसान के नाम खेती योग्य भूमि होना अनिवार्य है। 
  • भारतीय रिर्जव बैंक की अधिसूचना के अनुसार जिन किसान या किसान समूहों को इस योजना में पात्रता दी गई है उनमें किसान- अलग-अलग/संयुक्त उधारकर्ता जो स्वामित्व वाले किसान हैं, काश्तकार किसान, मौखिक पट्टेदार और बटाईदार किसान भी इस योजना का लाभ ले सकते हैं। 
  • इसके अलावा स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) या काश्तकार किसान, बटाईदार आदि सहित किसानों का संयुक्त देयता समूह (जेएलजी) इस योजना के पात्र हैं। 

मछली पालन और पशुपालन भी उठा सकते हैं किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ

सरकार की ओर से किसान क्रेडिट कार्ड का दायरा बढ़ा दिया गया है। पहले इस योजना में केवल किसानों को जो खेती करते उन्हें ऋण उपलब्ध कराया जाता था, लेकिन अब मछलीपालक और पशुपालकों को भी इस योजना में शामिल कर लिया गया है। अब मछलीपालन और पशुपालन करने वाले किसान भी क्रेडिट कार्ड बनाकर 2 लाख रुपए तक ऋण सस्ती दर पर प्राप्त कर सकते हैं। 

14 दिन में बनकर आ जाएगा किसान क्रेडिट कार्ड 

सरकार के निर्देशानुसार सहकारी बैंकों के माध्यम से किसानों के क्रेडिट कार्ड बनाने का काम किया जाता है। यदि किसान केसीसी के लिए आवेदन की प्रक्रिया पूरी कर लेता है तो उसे 14 दिन में बैंक की ओर से केसीसी जारी कर दिया जाता है। इसके लिए जरूरी है कि आपका आवेदन पूरी तरह से सही भरा हुआ हो और उसके साथ मांगे गए सभी दस्तावेजों की कॉपी लगाई गईं हो। 

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए इन दस्तावेजों की होगी आवश्यकता

किसानों को केसीसी बनवाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होगी, जो इस प्रकार से हैं- 

  • आवेदक करने वाले किसान का आधार कार्ड 
  • आवेदन करने वाले किसान का पैन कार्ड
  • किसान की जमीन के कागजात जिसमें खसरा खाता खतौनी की कॉपी
  • बैंक खाते का विवरण हेतु पासबुक की प्रथम पेज की कॉपी
  • आवेदन करने वाले किसान का मोबाइल नंबर जो आधार से लिंक हो
  • किसान का पासपोर्ट साइज फोटो

केसीसी बनवाने के लिए क्या है आवेदन की प्रक्रिया

किसान अपने नजदीकी सहकारी बैंक से संपर्क करके बड़ी आसानी से किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं। इसके लिए आपको उपरोक्त सभी आवश्यक दस्तावेज अपने साथ लेकर बैंक जाना होगा। बैंक आपको केसीसी बनवाने के लिए ओवदन का एक फॉर्म देगा जिसे आपको सही-सही भरना होगा और उसके साथ जो दस्तावेज मांगे गए हैं उनकी प्रमाणित कॉपी इस फॉर्म के साथ लगानी होगी। यदि आपका फॉर्म सही भरा हुआ है और दस्तावेजों सही लगाएं गए हैं तो बैंक द्वारा इन दस्तावेजोंं की जांच की जाएगी। दस्तावेजों के सत्यापन के बाद बैंक 14 दिन के अंदर आपको केसीसी कार्ड जारी कर देगा। ऐसा नियम बनाया हुआ है। 

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने में आ रही है परेशानी तो कहां करें संपर्क

किसानों को केसीसी बनवाने में परेशानी आ रही है या वे बैंक के रवैये से परेशान हैं यानि केसीसी बनवाने से जुड़ी किसी भी प्रकार की समस्या है तो आप बैंकिंग लोकपाल से संपर्क कर सकते हैं। आप उस बैंकिंग लोकपाल को शिकायत करें, जिसके अधिकार क्षेत्र में बैंक की शाखा या कार्यालय स्थित है। इसके अलावा आरबीआई की आधिकारिक वेबसाइट के लिंक https://cms.rbi.org.in/ पर विजिट कर सकते हैं। वहीं, किसान क्रेडिट कार्ड हेल्पलाइन नंबर 0120-6025109 / 155261 और ग्राहक ईमेल ([email protected]) के माध्यम से हेल्प डेस्क से भी संपर्क कर सकते हैं। 

Leave a Comment